राजनीति समाचार विवरण  
 Mail to a Friend Print Page   Share This News Rate      
Save This Listing     Stumble It          
 


 जजों के बीच विवाद पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के गर आज शाम पांच बजे बड़ी बैठक होगी (Fri, Jan 12th 2018 / 17:08:05)

प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान जब जस्टिस गोगोई से पूछा गया कि क्या ये विवाद जज लोया की संदिग्ध मौत से जुड़ा है. इसके जवाब में जस्टिस गोगोई ने कहा- 'जी हां.'span>नई दिल्ली: देश की सबसे बड़ी अदालत में जजों के बीच विवाद पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के गर आज शाम पांच बजे बड़ी बैठक होगी. सूत्रों के मुताबिक इस बैठक में कानून के जानकर सांसद और पूर्व कानून मंत्री मौजूद रहेंगे. इसके बाद कांग्रेस शाम 6.30 बजे प्रेस कॉन्फ्रेंस करेगी.

Government speaks to the Chief Justice of India after four SC judges press confrence

जजों की चिंता से हम भी चिंतित: कांग्रेस की प्रारंभिक प्रक्रिया

इस मामले पर कांग्रेस के प्रारंभिक प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि जजों की चिंता से हम भी चिंतित हैं. कांग्रेस नेता और पूर्व कानून मंत्री सलमान खुर्शीद ने इस पूरे मामले को दुखद करार दिया तो वहीं अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा कि जजों ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कुछ भी गलत नहीं किया.

सरकार ने सीजेआई से बात की
जानकारी के मुताबिक सरकार ने जजों के उठाए मुद्दे पर सरकार ने मुख्य न्यायधीश से बात कर चिंता जताई है. इससे पहले खबर आई थी कि सरकार ने जजों के मुद्दे को सुप्रीम कोर्ट का अंदरूनी मामला बताया. सरकार ने कहा कि जज आपस में मुद्दे को सुलझा लेंगे. हालांकि जजों की प्रेस कॉन्फ्रेंस के तुरंत बाद प्रधानमंत्री ने कानून मंत्री को बुलाकर बात की थी.

प्रेस कॉन्फ्रेंस में जजों ने क्या कहा?
सुप्रीम कोर्ट में नंबर दो की हैसियत रखने वाले जस्टिस चलमेश्वर ने कहा, ''किसी भी देश खासकर हमारे देश और न्यायपालिका के लिए अभूतपूर्व हालात हैं, हमारे लिए ये खुशी की बात बिल्कुल नहीं है कि हमें ये प्रेस कॉन्फ्रेंस बुलानी पड़ी. कुछ समय से सुप्रीम कोर्ट का प्रशासन सही तरीके से काम नहीं कर रहा. ऐसी कई चीजें हुई हैं जो नहीं होनी चाहिए थीं. कई मौकों पर वरिष्ठ जज होने के नाते हमने चीफ जस्टिस को ये बताने की कोशिश की कि कई चीजें ठीक से नहीं हो रही हैं इसलिए सुधार के लिए कदम उठाए जाने चाहिए. दुर्भाग्य से हमारी कोशिश नाकाम रही. हम सभी चार लोगों को लगता है कि अगर सुप्रीम कोर्ट की निष्पक्षता बरकरार नहीं रहती है तो हमारे या किसी देश का लोकतंत्र नहीं बच सकता. किसी भी अच्छे लोकतंत्र के लिए निष्पक्ष और स्वतंत्र न्यायपालिका जरूरी है.''

दुर्भाग्यवश हम चीफ जस्टिस को समझा नहीं सके: जस्टिस चलमेश्वर
जस्टिस जस्ती चलमेश्वर ने कहा, ''हमारी हर कोशिश नाकाम हो गई. आज सुबह भी एक खास मुद्दे को लेकर हम चार लोगों ने चीफ जस्टिस से मुलाकात की और उनसे निवेदन किया लेकिन दुर्भाग्यवश हम उन्हें ये नहीं समझा सकते कि हम सही हैं और कदम उठाने की जरूरत है. इसलिए देश के सामने अपनी बात रखने के अलावा हमारे पास कोई चारा नहीं था. हम ये नहीं चाहते थे कि 20 साल बाद देश को कोई बुद्धिमान आदमी ये कहे कि हमने अपनी आत्मा बेच दी. हमने इस संस्था की गरिमा और देशहित का ख्याल नहीं रखा.''

जज लोया की मौत के केस को लेकर छिड़ी जंग!
जस्टिस लोया की मौत की लेकर भी जजों में नाराजगी रही. प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान जब जस्टिस गोगोई से पूछा गया कि क्या ये विवाद जज लोया की संदिग्ध मौत से जुड़ा है. इसके जवाब में जस्टिस गोगोई ने कहा- 'जी हां.'

15 जनवरी तक के लिए टली सुनवाई
आज जस्टिस अरुण मिश्रा और जस्टिस शांतनागौडर की बेंच ने जस्टिस लोया की मौत वाली याचिका पर सुनवाई की. बेंच ने इस मामले को 15 जनवरी तक के लिए टाल दिया है. बेंच ने कहा- ये एक बेहद गंभीर मसला है. पहले महाराष्ट्र के वकील राज्य सरकार से निर्देश लें. मामले में पोस्टमार्टम रिपोर्ट देखना भी ज़रूरी है, हम मामले को दोबारा सोमवार को सुनेंगे. कांग्रेस नेता तहसीन पूनावाला और पत्रकार बी आर लोने की याचिकाओं पर दो से तीन मिनट तक सुनवाई चली.

क्या है जस्टिस लोया का पूरा मामला?
जज लोया की एक दिसंबर 2014 को नागपुर में दिल का दौरा पड़ने से उस समय मौत हो गई थी, जब वह अपनी एक सहकर्मी की बेटी की शादी में शामिल होने के लिए जा रहे थे. यह मामला तब सामने आया जब उनकी बहन ने भाई की मौत पर सवाल उठाए थे. बहन के सवाल उठाने के बाद मीडिया की खबरों में जज लोया की मौत और सोहराबुद्दीन केस से उनके जुड़े होने की परिस्थितियों पर संदेह जताया गया था. बॉम्बे लॉयर्स असोसिएशन ने भी 8 जनवरी को बंबई हाईकोर्ट में एक जनहित याचिका दायर कर जज लोया की मौत की जांच कराने की मांग की थी.

गुजरात में सोहराबुद्दीन शेख, उनकी पत्नी कौसर बी और उनके सहयोगी तुलसीदास प्रजापति के नवंबर 2005 में हुई कथित फर्जी मुठभेड़ मामले में पुलिसकर्मी समेत कुल 23 आरोपी मुकदमे का सामना कर रहे हैं. बाद में यह मामला सीबीआई को सौंपा गया और मुकदमे को मुंबई ट्रांसफर किया गया. जस्टिस लोया इसी मामले की सुनवाई कर रहे थे.

 
7newsindia.com
 
समान समाचार  
live tv
Submit Your News
7newsindia.com
7newsindia.com
7newsindia.com
7newsindia.com
7newsindia.com
7newsindia.com
7newsindia.com
7newsindia.com
 
राज्य समाचार  
उत्तर प्रदेश गुजरात
छत्तीसगढ़ जम्मू और कश्मीर
दिल्ली बिहार
मध्य प्रदेश महाराष्ट्र
 
 
समाचार चैनल  
राष्ट्रीय समाचार मध्य प्रदेश
राजनीति खेल खबर
स्वास्थ्य कानून-अपराध
पंचांग-पुराण प्रेम ग्रन्थ
स्ट्रिंग आपरेसन ऐतिहासिक धरोहर
सिंहस्थ-कुंभ प्रशासनिक
सम्पादकीय प्रतिभा -सम्मान
छत्तीसगढ़ पब्लिक मीडिया मंच
रीवा सम्भाग लेख- कविता
मनोरंजन धर्म -प्रथा
योग -व्यायाम बिहार
झारखंड महाराष्ट्र
जोक्स उत्तर प्रदेश
 
पंचांग-पुराण   
राशिफल अंक राशि
शुभ पंचांग जीने की राह
आस्था प्रवचन
हस्तरेखा वास्तु
रत्न फेंग शुई
कुंडली विशेष दिवस
 
राशिफल   
 
 
 
 
होम  | पंचांग-पुराण  | उत्तर प्रदेश  | स्वास्थ्य  | सम्पादकीय  | छत्तीसगढ़  | राजनीति  | मध्य प्रदेश  | पब्लिक मीडिया मंच  | सिंहस्थ-कुंभ  | झारखंड  | कानून-अपराध  | धर्म -प्रथा  | खेल खबर  | योग -व्यायाम  | बिहार  | राष्ट्रीय समाचार  | प्रेम ग्रन्थ  | जोक्स  | प्रशासनिक  | मनोरंजन  | स्ट्रिंग आपरेसन  | प्रतिभा -सम्मान  | लेख- कविता  | रीवा सम्भाग  | महाराष्ट्र  | ऐतिहासिक धरोहर  | मिज़ोरम  | पश्चिम बंगाल  | असम  | महाराष्ट्र  | मणिपुर  | नागालैण्ड  | दिल्ली  | अरुणाचल प्रदेश  | झारखंड  | पंजाब  | हिमाचल प्रदेश  | केरल  | कर्नाटक  | ओडिशा  | राजस्थान  | उत्तर प्रदेश  | आन्ध्र प्रदेश  | त्रिपुरा  | गुजरात  | मध्य प्रदेश  | सिक्किम  | मेघालय  | छत्तीसगढ़  | जम्मू और कश्मीर  | बिहार  | तमिलनाडु  | गोवा  | पुदुच्चेरी[b]  | हरियाणा  | उत्तराखण्ड  | तेलंगाना  | नियम एवं शर्तें  | गोपनीयता नीति  | विज्ञापन हमारे साथ  | हमसे संपर्क करें  | Live टीवी
7newsindia.com Copyrights 2016-2017. All rights reserved. Designed & Developed by : 7newsindia.com
 
Hit Counter